Digital Akhbaar

Latest Hindi News

IMG 20200818 WA0001

IMG 20200818 WA0001

AMERICA VS CHINA : हुआवेई पर अमेरिका ने कसा शिकंजा

 AMERICA VS CHINA : एनटाइटी लिस्ट में इसके 38 सहयोगी कंपनियों के नाम

AMERICA VS CHINA

चीन की टेक कंपनी हुआवेई पर शिकंजा कसते हुए अमेरिका ने अपने फॉरेन डायरेक्ट प्रोडक्ट से जुड़े नियमों में बदलाव किया है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने इसे चीन की कम्युनिस्ट पार्टी का हिस्सा करार देते हुए कहा कि ट्रंप प्रशासन हुआवेई को चीनी सत्तारूढ़ पार्टी की निगरानी का अहम हिस्सा मानती है। पोम्पियो ने इस फैसले का मकसद अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा और  देश के लोगों की प्राइवेसी बताई।

AMERICA VS CHINA

इस क्रम में चीन के हुआवेई (Huawei) पर लगाए गए प्रतिबंधों को अमेरिका ने और बढ़ा दिया है। इससे अब कंप्यूटर चिप और अन्य टेक्नोलॉजी तक हुआवेई की पहुंच को सीमित करना है। कॉमर्स डिपार्टमेंट ने एक बयान जारी कर कहा कि दुनिया भर में हुआवेई की 38 सहयोगी कंपनियों को एनटाइटी लिस्ट में शुमार किया गया है।

AMERICA VS CHINA : राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए लिया गया फैसला

AMERICA VS CHINA

अमेरिकी प्रशासन की तरफ से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि हुआवेई, अमेरिकी पुर्जों को थर्ड पार्टी कंपनियों की मदद से खरीद रही थी। ऐसा करके वह प्रतिबंध को विफल करने में सफल हो रही थी। अमेरिका ने जिन कंपनियों को प्रतिबंधित किया है वे सब 21 देशों में मौजूद हैं।

AMERICA VS CHINA

 

प्रेस रिलीज से यह स्पष्ट है कि हुआवेई को अमेरिका की बड़ी कंपनियों के साथ बिजनेस करने से रोकना राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के प्रशासन का अहम लक्ष्‍य है। अमेरिका के वाणिज्‍य मंत्री विल्बर रॉस ने कहा है कि हुआवेई और उसकी सहयोगी कंपनियों ने ‘अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेश नीति के हितों को कमजोर करने वाले तरीकों से अमेरिकी टेक्नोलॉजी का प्रयोग करने के लिए तीसरे पक्ष के माध्यम से काम किया है।’

Also visit – http://digitalakhbaar.com/ugc-guidlines-2020-2/