Digital Akhbaar

Latest Hindi News

Anant Chaturdashi 2020 : 14 गांठों का अनंत सूत्र बाधंने से पहले जान लें क्या है नियम

Anant Chaturdashi 2020 :

Anant Chaturdashi 2020

मंगलवार यानि एक सितंबर को अनंत चतुर्दशी है। भगवान विष्‍णु की साधना, उनकी पूजा का यह दिन अनंत सुख दायक बनता है जब इस दिन अनंतसूत्र धारण किया जाए। इस विशेष धागे को धारण करने से पहले कुछ विशेष नियम भी ध्यान रखने चाहिए।

 

Anant Chaturdashi 2020

ज्योतिषाचार्य डॉ शाेनू मेहरोत्रा के अनुसार भविष्य पुराण में भाद्र महीने की शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को अनंत चतुर्दशी कहा गया है। इस दिन कच्चे धागों से बने 14 गांठ वाले धागे को बाजू में बांधने से शेषनाग की शैय्या पर शयन करने वाले भगवान विष्णु जो आदि अनंत से परे हैं उनकी बड़ी कृपा होती है। इस धागे को बांधने की विधि और नियम को लेकर पुराणों में कुछ नियम और कथाएं बताई गईं हैं।

Anant Chaturdashi 2020 : पूजन विधि

Anant Chaturdashi 2020

भाद्र शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि के दिन कच्चे धागे में 14 गांठ लगाकर कच्चे दूध में डूबोकर ‘ओम अनंताय नमः’ मंत्र से भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए। वैसे आजकल अनंतसूत्र बाजार में भी मिलते हैं जिनकी पूजा करके पुरुषों को दाएं बाजू में और महिलाओं को बाएं बाजू में धारण करना चाहिए।

Anant Chaturdashi 2020 : क्‍या है नियम

Anant Chaturdashi 2020

अनंतसूत्र धारण करने वाले को कम से कम 14 दिन इसे धारण करके रखना चाहिए और इस बीच मांसाहार से परहेज रखना चाहिए। वैसे नियम यह है कि इसे पूरे साल बांधकर रखें तो उत्तम फल मिलता है।

Anant Chaturdashi 2020 : अनंत सूत्र की कथा

Anant Chaturdashi 2020

कैण्डिल्य ऋषि ने अपनी पत्नी की बाजू में इसे बंधा देखकर इसे जादू टोने का धागा मान लिया और इसे जला दिया। इससे कौडिल्य ऋषि को बड़े दुखों का सामना करना पड़ा। भूल का अहसास होने पर इन्होंने खुद 14 वर्षों तक अनंत व्रत किया इससे प्रसन्न होकर अनंत भगवान ने इन्हें फिर से धन वैभव प्रदान किया। इसलिए कहा गया है कि अनंत का सूत्र बड़ा ही चमत्कारी है।

Also visit –http://digitalakhbaar.com/corona-virus-in-uttrakhand/