Digital Akhbaar

Latest Hindi News

CAMS IPO : आईपीओ के जरिए 2,240 करोड़ रुपये जुटाएगी कंप्यूटर एज मैनेजमेंट सर्विसेज, जानिए प्राइस बैंड व डिस्काउंट समेत मुख्य बातें

CAMS IPO : बाजार के सुधरते हालात

CAMS IPO

कोरोना महामारी के कारण देश में लगाए गए लॉकडाउन का असर अर्थव्यवस्था पर पड़ा। देश की इकोनॉमी धड़ाम हो गई तो शेयर मार्केट निचले स्तर पर पहुंच गया। लॉकडाउन के कारण शेयर बाजार में भारी गिरावट दर्ज की गई। बाजार में आई इस मंदी के कारण निवेशकों के साथ-साथ वो कंपनियां भी पीछे हट गई, जो अपने IPO लाने की तैयारी कर रही थी, लेकिन अनलॉक के साथ-साथ धीरे-धीरे देश की अर्थव्यवस्था पर शेयर बाजार वापस पटरी पर लौट रहे हैं।

CAMS IPO

शेयर बाजार में निवेशकों का आकर्षण बढ़ा तो कंपनियों ने आईपीओ को पेश करने की तैयारी कर ली है। इसी कतार में अगले हफ्ते दो बड़ी कंपनियां अपना IPO लॉन्च कर सकती है।

CAMS IPO : कंप्यूटर एज मैनेजमेंट सर्विसेज ने सार्वजनिक निर्गम की घोषणा की हैं

CAMS IPO

म्युचुअल फंड्स के लिए रजिस्ट्रार और ट्रांसफर एजेंट (RTA) की तरह व्यवहार करने वाली एनएसई समर्थित कंप्यूटर एज मैनेजमेंट सर्विसेज (CAMS) ने बुधवार को अपने आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) की घोषणा की है। कंपनी की इस आईपीओ के जरिए 2,240 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। इस आईपीओ में 1,82,46,600 इक्विटी शेयर या एनएसई इन्वेस्टमेंट द्वारा 37.4 फीसद हिस्सेदारी की बिक्री की पेशकश की जाएगी। एनएसई इन्वेस्टमेंट नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) की सब्सिडियरी है।

CAMS IPO : कंपनी ने बेचीं पूरी होल्डिंग

CAMS IPO

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनुज कुमार ने कहा कि एनएसई ने कंपनी में अपनी पूरी होल्डिंग को बेचने का निर्णय लिया है। यह इश्यू 21 सितंबर को सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगा और 23 सितंबर को बंद होगा। इससे पहले, एंकर निवेशकों का हिस्सा 18 सितंबर को खुलेगा।

CAMS IPO

इस इश्यू का आधा हिस्सा योग्य संस्थागत खरीदारों, 35 फीसद खुदरा निवेशकों और 15 फीसद गैर-संस्थागत
35 फीसद खुदरा निवेशकों और 15 फीसद गैर-संस्थागत बोलीदाताओं के लिए रिज़र्व है। साथ ही इस इश्यू में 1.82 लाख शेयर कर्मचारियों के लिए रिज़र्व हैं। कर्मचारियों को शेयर पर 10 फीसद डिस्काउंट भी दिया जाएगा।

CAMS IPO

प्राइस बैंड की बात करें, तो कंप्यूटर एज मैनेजमेंट सर्विसेज के इस आईपीओ में प्राइस बैंड 1,229 से 1,230 रुपये प्रति शेयर के बीच निर्धारित किया गया है। कंपनी इस प्राइस बैंड के ऊपरी स्तर से 2,242 करोड़ रुपये जुटाएगी।

Also visit –http://digitalakhbaar.com/sushant-singh-rajput-case-30/