Digital Akhbaar

Latest Hindi News

COVID-19 VACCINE UPDATES

CORONAVIRUS VACCINE : रूस में आम लोगों को दी जाने लगी वैक्सीन Sputnik V, भारत में जल्द शुरू होगा ट्रायल

CORONAVIRUS VACCINE :

CORONAVIRUS VACCINE

दुनियाभर में कोरोना संकट के बीच वैक्सीन से सभी को उम्मीदें हैं। रूस वह पहला देश है जिसने कोरोना की वैक्सीन को रजिस्टर कराया है।  इस बीच रूस में स्पुतनिक-V(Sputnik V) कोरोना वैक्सीन आम लोगों को दी जाने लगी है। रूसी अधिकारियों का कहना है कि महामारी के इस संकट में कोरोना को खत्म करने के लिए यह वैक्सीन कारगर साबित होगी। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, कोरोना वैक्सीन की पहले खेप राजधानी मॉस्को में लोगों के लिए उपलब्ध करवाई गई है।

CORONAVIRUS VACCINE

बता दें कि अगस्त के महीने में रूस के गामालेया साइंटिफिक रिसर्च इंस्टीट्यूट ने स्पुतनिक वैक्सीन लांच किया था। अब इस वैक्सीन को रूस दूसरे देशों में भी सप्लाई करने की योजना बना रहा है। उम्मीद है कि जल्द ही भारत में इस वैक्सीन का ट्रायल शुरू हो जाएगा। इसके लिए दोनों देश बातचीत कर रहे हैं।

CORONAVIRUS VACCINE : रूस के अलग-अलग इलाकों में लगेगा टीका

CORONAVIRUS VACCINE

रूसी मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि गामलेया फेडरल सेंटर फॉर एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा विकसित वैक्सीन (स्पुतनिक वी) के पहले ट्रायल बैच प्राप्त हुए हैं। जानकारी के मुताबिक, स्पुतनिक-V(Sputnik V) कोरोना वैक्सीन का उपयोग विभिन्न रूसी क्षेत्रों में किया जा रहा है, इसमें चिकित्सा कर्मचारियों को प्राथमिकता दी जा रही है। संघीय सूचना निगरानी प्रणाली के अनुसार, अब तक वैक्सीन के 27,000 से अधिक चिह्नित पैकेज हैं।

CORONAVIRUS VACCINE : भारत समेत कई देशों में जल्द शुरू होगा ट्रायल

CORONAVIRUS VACCINE

कोरोना वायरस की रूसी वैक्सीन स्पुतनिक-5 का क्लीनिकल ट्रायल भारत समेत कई देशों में जल्द शुरू होगा। कोरोना वैक्सीन विकसित करने वाला दुनिया का पहला देश रूस है और इसने कहा है कि वैक्सीन को अप्रूवल मिलने के बाद 100 मिलियन खुराक भारत भेजे जाएंगे। रूस के वेल्थ फंड की ओर से की ओर से जानकारी दी गई कि यह भारत के डॉक्टर रेड्डी लैब (Dr. Reddy’s Laboratories) को स्पूतनिक-V ( Sputnik-V) वैक्सीन देगा।  इसके अनुसार, नियामक की मंजूरी मिलने के बाद कोविड-19 वैक्सीन के कुल 100 मिलियन डोज भारत भेजे जाएंगे।

Also visit –http://digitalakhbaar.com/demise-of-jaswant-singh/