Digital Akhbaar

Latest Hindi News

Financial planning- one timeless hobby वित्तय नियोजन में ही समझदारी

Financial planning

वित्तीय नियोजन 

Financial  planning अगर यूं कहा जाए कि आज के दौर की सबसे बड़ी समझदारी है तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं । कोरोना ने सबको financial  planning की लंबी चौड़ी झड़ी लगा दी है उसमें पैसे की प्लानिंग भी एक महत्वपूर्ण सबक है।

Financial  planning

वित्तय प्लानिंग की शुरुआत

Financial planning (वित्त प्लानिंग) की शुरुआत का सही समय 25 वर्ष की आयु है जहां तक व्यक्ति केवल रोजगार में कमोवेश छलांग लगा ही लेता है बल्कि उसके दिमाग में भविष्य का खाका भी स्पष्ट होने लगता है । प्रत्येक युवा को चाहे वह महिला हो या पुरुष वित्त प्लानिंग की शुरुआत इसी दौर में शुरू कर देनी चाहिए,क्योंकि इस उम्र में अन्य जिम्मेदारियां रहती हैं । अतः सही इन्वेस्टमेंट का यही समय है इस के लिए सबसे जरूरी चीज अपने वित्तीय लक्ष्यों को निर्धारित कर देना चाहिए।

Financial planning 

वित्तीय नियोजन की शुरूआत

Financial planning वित्तीय नियोजन एक गंभीर एक्सरसाइज है क्योंकि हर व्यक्ति की आर्थिक पृष्ठभूमि ,शिक्षा और पारिवारिक जिम्मेदारियां भिन्न-भिन्न होती हैं । कई लक्ष्यों का बाहरी तौर पर निर्धारण भी अलग अलग ही होगा । एक महिला की जिम्मेदारियां और भविष्य के लक्ष्य निश्चित रूप से एक पुरुष जेसे नहीं होंगे । वउसे अपने वित्तीय प्लानिंग में सर्वप्रथम अपने लक्ष्यों को लेकर आगे बढ़ना चाहिए।https://www.google.com/url?sa=t&source=web&rct=j&url=https://www.investopedia.com/articles/younginvestors/08/eight-tips.asp&ved=2ahUKEwithLmws9DvAhX4zzgGHWRUDnQQFjACegQIIhAC&usg=AOvVaw2DKTYjm_BtDXgWX3Sz6WSK

Financial planning

युवा वर्ग की आर्थिक वैतरणी

Financial  planning  प्लानिंग युवाओं के लिए उनके भविष्य का अहम हिस्सा है । आजकल रोजगार के अवसर वैसे ही बहुत कम है । प्रत्येक युवा को चाहिए कि वह अपने लंबे भविष्य के सापेक्ष कुछ ना कुछ बचत अवश्य करें ,इसके लिए उसे अपने खर्चों को नियंत्रित करना होगा । अनावश्यक खर्चो की पड़ताल करते हुए अधिक से अधिक निवेश भविष्य के प्रति होना चाहिए, क्युकि इस स्थिति में न्यूनतम निवेश भी भविष्य की आर्थिक आजादी हो सकती है। Photo

Financial planning

वित्तीय नियोजन के तीन भाग

Financial planning (वित्त नियोजन ) में बचत ,बीमा और निवेश तीनों घाटको पर प्रीति एक युवा को ध्यान केंद्रित करना चाहिए । बचत चाहे अल्पतम क्यों ना हो ,माइंड सेट हमेशा बनाना चाहिए । बढ़ते हुए प्रदूषण ,दुर्घटनाएं और अस्पताल के खर्चों में असाधारण वृद्धि को देखते हुए प्रत्येक युवा को एक ठीक-ठाक बीमा भी अवश्य कराना चाहिए।  पॉलिसी बाजार डॉट कॉम पर इस तरह की अनेक योजनाएं हैं जो कम से कम मूल्य पर भी शुरू की जा सकती है । निवेश बचत का ही भाग है,यदि बचत को ठीक से नियोजित किया जाए तो निवेश के लिए कुछ ना कुछ राशि अवश्य जुटाई जा सकती है।

Financial planning

वित्तीय नियोजन के लिए सलाह 

financial planning

Also see👉http://www.thebalance.com › top-ten-fina… Top 10 Tips for Financial Success – The Balance

 

बदलते दौर में वित्तीय सलाहकारों की भी बाढ़ आ गई है । बिताई सलाह एक महत्वपूर्ण कैरियर के रूप में अब हमारे सामने है । मेट्रो के अलावा टायर वन और टायर टू सिटीज में भी विधि सलाहकार उपलब्ध है । विदाई नियोजन के प्रोफेशनल अपनी फीस वसूल करके सलाह देते हैं। बेहतर हो कि अपने विदाई नियोजन के किसी अच्छे सलाहकार की मदद ली जाए । विनियोजन का वार्षिक प्रयास अप्रैल माह में ही शुरू हो जाना चाहिए। इससे का  फाायद यह  है की  पूरे वर्ष भर उपलब्ध रहेगा।

Financial planning

वित्तीय नियोजन और टैक्स 

Financial planning (वित्तीय नियोजन ) के प्रत्येक  वर्ष होने वाले बजट के टेक्स का राजधानी पर भी नजर रखनी चाहिए। इसका लाभ यह होगा कि बचत के लिए जो बजट की सुविधाएं हैं उनका सदुपयोग किया जा सकता है । एकमुश्त मिलने वाली विवाह की धन राशि अथवा गिफ्ट पर भी सहूलियतें मिलती हैं, इस धनराशि का निवेश कर टैक्स बचाया जा सकता है । इसी तरह घर परिवारों के त्यौहार पर मिलने वाले  गिफ्ट अथवा धनराशि को भी बेहतर विकल्पों में किया जा सकता है । वित्तीय नियोजन का लक्ष्य है यह अपने लक्ष्यों के सापेक्ष अभी से बचत ,बीमा व निवेश की शुरुआत करे।

Financial planning

वित्तीय प्लानिंग 

Financial  planning वित्तीय प्लानिंग एवं वित्तीय साक्षरता एक ही चीज है । वित्तीय साक्षरता जैसे-जैसे बढ़ेगी समाज में उतना ही आर्थिक सफलता आएगी । साक्षरता आज का नया युद्ध धर्म है ।इसलिए सभी को चाहिए कि अपने जीवन के पैसे के लक्ष्यों को स्पष्ट रखें और मजबूती के साथ अपने जीवन को आगे बढ़ाएं ।