Digital Akhbaar

Latest Hindi News

Middle-class : 1 शक्तिशाली भारत की आशा middle-class : for an empower india

Middle-class 

New challenges

Middle-class हमेशा बदलाव की प्रक्रिया से गुजरता रहा हैमध्यमा का मुख्य अदा असंगठित क्षेत्र के कर्मकारोंके आगे बढ़ने की प्रक्रिया का भी बोध कराता है हाल ही में ओला जोमैटो और फ्री की जैसे नए आर्थिक कार्यक्रमों से जुड़े लोगों ने थोड़ी बहुत छलांग जरूर लगाई है पर कोरोना के चलते यह वर्ग भी इस समय आपदा ग्रस्त है ।

Middle-class

Middle-class ईज ऑफ लिविंग

Middle-class रोटी कपड़ा और मकान तीनों मामलों में आज एज ऑफ लिविंग की सुविधा उठा रहा है घर में खाना बनाने खाना बनाने में घटती रुचि के चलते बाजार से बैग और इंस्टेंट फूड के प्रति मिडिल क्लास का रुझान विगत दशक में तेजी से बढ़ा है सोशल मीडिया में सब कुछ सुलभता के चलते कपड़े और फैशन एक साथ मिडिल क्लास को मैं सुर संगम दे रहे हैं आज मिडिल क्लास चाहे अपने बच्चे का जन्मदिन हो अथवा विवाह अथवा कोई अन्य खुशी का अवसर पूरे उल्लास और खर्चों के साथ इज ऑफ लिविंग को भोगना चाहता है और उसके लिए मिडिल क्लास पर्याप्त खर्चा भी कर रहा है यही स्थिति कारपेट गॉड से जुड़े युवाओं की अपने मकान को लेकर चाहत से भी है अब युवा आयु के मध्यकाल तक इंतजार नहीं करना चाहता वह महानगरों में सीबी तरह अपार्टमेंट चाहता है लोन की सुविधाओं के चलते उसका यह अपार्टमेंट प्रेम विदेशी भ्रमण वह पिकनिक तक ही प्रचार प्रसार पा रहा है 

­

Middle-class

Middle-class इज ऑफ बिजनेस

Middle-class अपने स्थाई स्टाइल और जीवनशैली में नई पहल कदमी कर रहा है बल्कि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के चलते युवा वर्ग नई स्टार्टअप और कारोबार में भी कदमताल कर रहा है प्रयोग धर्मी युवा के रूप में दोनों पति-पत्नी किसी ना किसी रूप में कारोबार से जुड़े हैं ,सच तो यह है कि बिना सहकर्मी कि आई के एक मेट्रो जीवन चलाना भी भारी पड़ता है स्टार्ट अप ,नई कंपनियों और ने इनोवेशन के चलते आज का युवा चाहे महिला हो या पुरुष अपने अपने संकल्पों के सहारे आगे बढ़ रहा है अब मुंबई का चौपाटी कुछ आदत रोजगार ओं का मोहताज नहीं नए उद्यमियों की हर मोहल्ले में बाढ़ आ गई है युवा अब सच्चे अर्थ में कर्म जीवी बन गया है सरकार से केवल आर्थिक उत्पादन का एक अच्छा इकोसिस्टम चाहिए ,इस केस में अपने स्किल व कौशल से अंजाम दे सकता है।

Middle-class

http://Www.digitalakhbaar.com

Middle-class:एक उभरता हुआ जननायक

Middle-class नौकरियों का मोहताज नहीं उसे पैर रखने की जगह चाहिए उसके बाद वह अपने सपनों की  कुलांचे भरना चाहता है इसी से नए नए उद्यमी जननायक और हर क्षेत्र में पैदा हो रही हैं चाहे महिला हो या पुरुष ,,बायोटेक्नोलॉजी ,फैशन,विज्ञान अथवा नवोन्मेष संबंधी इनोवेशन सब कुछ उसके पास है एपीजे अब्दुल कलाम जैसे स्वपनशील मनुष्य ने उसे नई उर्जा दी है इंटरनेट ऑफ थिंग्स ,आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और डाटा एनालिटिक्स ने उसके सम्मुख अच्छी खासी रोजगार की संभावनाएं पैदा की हैं ई-कॉमर्स एक नई विधा के रूप में धीरे-धीरे हमारे जीवन में प्रवेश कर रहा है  ।

  • Also visit to👉

https://qz.com/india/562578/indias-middle-class-is-actually-the-worlds-poor/

Middle-class

Middle-class:सबसे बड़ा वोट बैंक

Middle-class

Middle-class अब अपनी राजनीतिक हैसियत को भी पहचानने लगा है युवा राजनीति में नए प्रयोग धर्मी बन रहे हैं 64% युवा आबादी के चलते वोट बैंक का सबसे बड़ा आधार यही है उसके रुझानों का राजनीतिक दलों पर भी अच्छा खासा प्रभाव रहता है दिल्ली के रामलीला मैदान में अन्ना हजारे के आंदोलन के चलते युवाओं ने बहुत बड़ी कार भरी थी डीपी उसका बहुत सकारात्मक प्रभाव परिणाम नहीं निकला आज ही आज धीरे-धीरे युवा देश की राजनीति के ताने-बाने को समझ रहा है और राजनीति से जुड़ना चाहता है यहां तक कि विदेशों में रोजगार के लिए बढ़ती भागदौड़ के बावजूद अपने देश की राजनीति और राजनीतिक उठापटक में उसे रस आता है संविधान और सांसद की बहस ,कुतूहल से देखता है कहना न होगा कि मिडिल क्लास एक उभरता हुआ और संक्रांति का प्रतीक है उसके उतार-चढ़ाव पर समाज की गहरी नजर है ­।

For more news visit to us : http://Www.Digitalakhbaar.com