Digital Akhbaar

Latest Hindi News

Senior Congress leaders advocating for change : कांग्रेस में घमासान, राहुल खेमा नहीं संभला तो 200 नेता मुखर रूप से सामने आने को तैयार

Senior Congress leaders advocating for change :

Senior Congress leaders advocating for change

कांग्रेस में नेतृत्व के संकट और पार्टी के चिंताजनक हालात में बदलाव के लिए आवाज उठाने वाले 23 वरिष्ठ नेताओं का अंदरखाने समर्थन बढ़ रहा है। राहुल गांधी को नेतृत्व सौंपने की पैरोकारी कर रहा युवा ब्रिगेड अगर वरिष्ठ नेताओं पर हमला करता रहा तो देर-सबेर देशभर में पार्टी के करीब दो सौ नेता खुलकर वरिष्ठ नेताओं के पक्ष में आने को तैयार हैं। स्पष्ट है कि सुधार चाहनेवाले नेताओं की घेराबंदी की गई, तो कांग्रेस की कलह और बढ़ेगी।

Senior Congress leaders advocating for change : कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं का कहना

Senior Congress leaders advocating for change

बदलाव की वकालत कर रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि भाजपा एजेंट बताकर उन पर निशाना साधने की राहुल ब्रिगेड की कोशिश कारगर नहीं होगी। राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर नेताओं का बड़ा वर्ग सुधारों के सवाल को भाजपा से जोड़ने की कोशिश को बहानेबाजी और यथास्थिति बनाए रखने की जुगत मान रहा है। पार्टी के हालात पर सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले एक नेता ने अनौपचारिक बातचीत में कहा कि पार्टी के एक बड़े वर्ग को अपना राजनीतिक भविष्य अंधकारमय नजर आ रहा है। ऐसे में बदलाव के सवालों पर बहानेबाजी से बात बिगड़ेगी और कई नेता खुलकर सामने आएंगे।

Senior Congress leaders advocating for change : ऊपर ही हो जाते हैं सब फैसले

Senior Congress leaders advocating for change

उन्होंने कहा कि संसदीय बोर्ड नहीं होने की वजह से सारे निर्णय हाईकमान और उसके इर्द-गिर्द के नेता करते हैं। राज्यसभा या विधान परिषद के टिकट तय होते हैं तो 90 फीसद वरिष्ठ नेताओं को इसकी जानकारी तक नहीं होती है, जिससे जमीनी नेताओं और कार्यकर्ताओं की अनदेखी होती है।

Senior Congress leaders advocating for change

कांग्रेस की सियासी जमीन खिसकने की यह एक बड़ी वजह है। आलम तो यह है कि ब्लॉक का अध्यक्ष भी दिल्ली से तय होता है, जिससे प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष की ताकत कमजोर हो गई है। गुलाम नबी आजाद ने इन्हीं हालातों की ओर इशारा करते हुए कहा है कि संगठन और कार्यशैली में बदलाव नहीं हुआ, तो कांग्रेस को 50 साल तक विपक्ष में बैठने के लिए तैयार रहना चाहिए।

Also visit –http://digitalakhbaar.com/suresh-rainas-uncle-killed-by-robbers/