Digital Akhbaar

Latest Hindi News

CORONAVIRUS VACCINE INDIA UPDATE

US PRESIDENT TRUMP : UNGA में डोनाल्ड ट्रंप बोले, कोरोना महामारी को फैलाने वाले चीन को जिम्मेदार ठहराया जाए

US PRESIDENT TRUMP :

US PRESIDENT TRUMP

संयुक्त राष्ट्र आमसभा ( UN General Assembly) के 75वें सत्र को संबोधित करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि द्वितीय विश्व युद्ध के अंत और संयुक्त राष्ट्र की स्थापना के 75 साल बाद एक बार फिर से हम वैश्विक संघर्ष में फंसे हैं। हमने एक अदृश्य दुश्मन चीनी वायरस के खिलाफ लड़ाई छेड़ दी है। इसने 188 देशों में अनगिनत जिंदगियां ली हैं।

US PRESIDENT TRUMP

अमेरिका में हमने दूसरे विश्व युद्ध के बाद अब तक का सबसे आक्रामक मोबलाइजेशन शुरू किया। हमने तेजी से रिकॉर्ड वेंटिलेटर्स की सप्लाई की। सरप्लस वेंटिलेटर होने की वजह से हम इसे दुनियाभर के अपने मित्रों को बांट पाए।

US PRESIDENT TRUMP :

US PRESIDENT TRUMP

चीन पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जिस तरह से हम एक सुनहरे भविष्य की ओर बढ़ रहे हैं, हमें दुनियाभर में ऐसी महामारी फैलाने वाले देश चीन को जिम्मेदार ठहराना चाहिए। वायरस के शुरुआती दिनों में चीन ने घरेलू यात्राओं पर रोक लगा दी थी।

US PRESIDENT TRUMP

लेकिन दुनियाभर को संक्रमित करने के लिए अन्य देशों की उड़ानों को जारी रखा था। चीनी सरकार और WHO (जिसे पर्दे के पीछे से चीन चलाता है) ने झूठा दावा कर दिया कि ऐसा कोई प्रमाण नहीं है कि वायरस इंसान से इंसान में फैलता है। बाद में उन्होंने झूठा दावा किया कि बिना लक्षण वाले मरीज बीमारी नहीं फैला सकते हैं।

US PRESIDENT TRUMP : वर्चुअल रूप से संबोधित करेंगे राष्‍ट्राध्‍यक्ष

US PRESIDENT TRUMP

संयुक्‍त राष्‍ट्र के इतिहास का ये पहला अवसर है जब यूएन के सदस्‍य देशों के राष्‍ट्राध्‍यक्ष इस सत्र को वर्चुअल रूप से संबोधित करने वाले हैं। इसलिए भी इसकी अहमियत काफी बढ़ गई है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस महासभा को 26 सितंबर को संबोधित करेंगे। वहीं पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस सत्र को 25 सितंबर को संबोधित करेंगे। इस नाते भारत के पास पाकिस्‍तान के उठाए हर सवाल और हर आरोप का जवाब देने का भी मौका होगा।

US PRESIDENT TRUMP : यूएनएससी के स्थायी और अस्थायी सदस्यों की संख्या बढ़ाने की मांग

US PRESIDENT TRUMP

ज्ञात हो कि भारत समेत ब्राजील, जर्मनी और जापान यूएनएससी के स्थायी और अस्थायी सदस्यों की संख्या बढ़ाने की मांग काफी समय से करते आ रहे है। भारत का कहना है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सदस्‍यों की संख्‍या बढ़ाकर यूएन में बदलती वैश्विक व्यवस्था की झलक दिखाई दनी चाहिए। सुधार का ये मुद्दा 2008 से लगातार उठाया जा रहा है। इस बार भी पीएम मोदी के संबोधन में ये बातें स्‍पष्‍ट रूप से दिखाई दे सकती हैं।

Also visit –http://digitalakhbaar.com/uttarakhand-news-22/