उत्तराखंड में गढ़वाल को कुमाऊं से जोड़ने वाले मार्ग के चौड़ीकरण के बाद कर्णप्रयाग से हल्द्वानी के बीच की दूरी दो घंटा कम हो जाएगी

उत्तराखंड में गढ़वाल को कुमाऊं से जोड़ने वाले कर्णप्रयाग-हल्द्वानी मोटर मार्ग के चौड़ीकरण को राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने मंजूरी दे दी है। 235 किमी लंबे इस मार्ग को टू लेन पेव्ड शोल्डर के साथ विकसित किया जाएगा। इस पर 2115 करोड़ रुपये अनुमानित खर्च का आकलन किया गया है। मार्ग के चौड़ीकरण के बाद कर्णप्रयाग से हल्द्वानी के बीच की दूरी दो घंटा कम हो जाएगी।

प्रदेश सरकार केंद्र की मदद से रोड कनेक्टिविटी में सुधार के जरिये यात्रा की दूरी और समय कम करने के अभियान पर है। इसमें दिल्ली-देहरादून, देहरादून-हल्द्वानी के बाद यह तीसरा प्रोजेक्ट है, जिस पर काम शुरू होने जा रहा है। इसके तहत राष्ट्रीय राजमार्ग-109 को चार फेज में चौड़ा किया जाएगा। कुल 235 किमी सड़क का 164 किमी हिस्सा गढ़वाल और 171 किमी हिस्सा कुमाऊं क्षेत्र में पड़ता है। पहले फेज में किमी शून्य से 35 ज्योलीकोट से खैरना तक निर्माण से पूर्व डबल लेन विद पेव्ड शोल्डर (डीएलपीएस) की कंसलटेंसी का कार्य गतिमान है। इसके साथ ही वन भूमि हस्तांतरण की कार्यवाही की जा रही है।

दूसरे फेज में किमी 35 से 45 खैरना से काकड़ीघाट दस किमी सड़क के डबल लेन का काम पूरा हो चुका है। तीसरे फेज में किमी 45 से 55.560 काकड़ीघाट से क्वारब तक डीएलपीएस का कार्य गतिमान है, जो अगले वर्ष जून माह तक पूरा हो जाएगा। चौथे फेज में किमी 55.560 से किमी 235 क्वारब से कर्णप्रयाग तक डीएलपीएस का कंसलटेंसी का कार्य गतिमान है। मार्ग के इस हिस्से में द्वाराहाट और पांडुवाखाल में दो-दो किमी लंबी टनल भी प्रस्तावित हैं। इनकी डीपीआर 31 अक्तूबर तक जमा कर दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.