धर्माचार्य एवं विश्व हिंदू परिषद घर वापसी जैसे मुद्दों पर चर्चा कर हिंदू धर्म में गैर सनातनियों की वापसी को लेकर चर्चा एवं प्रयास किये जायेंगे

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल की 11-12 जून को निष्काम सेवा ट्रस्ट में होने वाली बैठक में 300 से अधिक संत-महात्मा भाग लेंगे। बैठक की तैयारियों में जुटे विश्व हिन्दू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता अशोक तिवारी ने बताया कि मार्गदर्शक मंडल की बैठक में कुटुंब प्रबोधन, घर वापसी जैसे प्रस्तावित विषयों पर विचार मंथन के साथ जनसंख्या नियंत्रण, समान नागरिक संहिता पर भी विचार किया जा सकता है।देशभर में चर्चित ज्ञानवापी के विषय पर अशोक तिवारी ने कहा कि विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने इस संबंध में स्पष्ट किया था कि चूंकि प्रकरण अभी न्यायालय में है, इसलिए अधिक टिप्पणी करना ठीक नहीं होगा।

विश्व हिंदू परिषद् इस बैठक में उपस्थित धर्माचार्य विद्वतजनों के मध्य विभिन्न प्रस्ताव के माध्यम से हिन्दू हितों की चिंता करते हुए प्रस्ताव परित करेगा। देश व धर्म को दिशा देने के लिए धर्माचार्य एवं विश्व हिंदू परिषद घर वापसी जैसे मुद्दों पर चर्चा कर हिंदू धर्म में गैर सनातनियों की वापसी को लेकर चर्चा एवं प्रयास किये जायेंगे।देश को एकता के सूत्र में बांधने के लिए और हिंदूत्व को मजबूत करने के लिए कुटुंब प्रबोधन पर विचार मंथन किया जाएगा।

मार्गदर्शक मंडल बैठक के निमित्त विहिप प्रवक्ता अशोक तिवारी ने सोमवार को श्रीपंचायती बड़ा अखाड़ा उदासीन के महंत रघुमुनि, आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानन्द गिरि, श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज, श्रीमहंत महेशपुरी महाराज, श्रीमहंत शिवशंकर गिरि महाराज, संत जसविंदर सिंह शास्त्री, महंत दामोदर दास, आचार्य महामंडलेश्वर विशोक आनंद भारती, आचार्य महामंडलेश्वर बालकानंद गिरी महाराज, शांतिकुज प्रमुख डॉ. चिन्मया पाण्डेय आदि शीर्ष धर्माचार्यों से मिलकर मार्गदर्शक मंडल की बैठक में आने का निमंत्रण दिया।

यह रथ माता निर्मला देवी के जन्म स्थान छिंदवाड़ा मध्य प्रदेश से अपनी यात्रा शुरू करते हुए देश के विभिन्न भागों से होते हुए 25 मई 2022 को देवभूमि उत्तराखंड में पहुंची थी। उत्तराखंड के विभिन्न शहरों से होते हुए यह रथ यात्रा नौ जून शाम को रुड़की पहुंचेगी। हरिद्वार रोड पर कान्हापुर गांव में स्थित आश्रम में माता निर्मला देवी के चैतन्य रथ यात्रा का स्वागत किया जाएगा।

इसके बाद सहज आश्रम में भजन संध्या होगी। 10 जून को शहर में चैतन्य रथयात्रा विभिन्न क्षेत्रों से होते हुए पुन: हरिद्वार रोड स्थित सहज योग ध्यान आश्रम पर आकर संपन्न होगी। जबकि 11 जून को चैतन्य रथ यात्रा विभिन्न ग्रामीण कस्बा मंगलौर, लिब्बरहेड़ी, झबरेड़ा, इमलीखेड़ा, बेलड़ा होते हुए आश्रम पहुंचेगी। यहां से यात्रा हरिद्वार के लिए प्रस्थान करेगी। इस अवसर पर आशीष जैन और संस्था के अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.