नारसन बॉर्डर से लेकर हरकी पैड़ी तक जिलाधिकारी और एसएसपी ने कांवड़ियों पर फूल बरसाए

कांवड़ यात्रा पर हरिद्वार पहुंचने वाले कांवड़ियों पर शुक्रवार को हेलीकॉप्टर से पुष्पवर्षा की गई। नारसन बॉर्डर से लेकर हरकी पैड़ी तक जिलाधिकारी और एसएसपी ने कांवड़ियों पर फूल बरसाए। फूलों की बारिश होते ही हर हर महादेव और बम बम भोले के जयकारों से धर्मनगरी गूंज उठी। कांवड़ यात्रा में शिवभक्तों का सैलाब उमड़ रहा है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी कांवड़ियों के चरण धोकर उनका स्वागत कर चुके हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश पर शुक्रवार को कांवड़ियों पर पुष्प वर्षा की गई। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने हेलीकॉप्टर से नारसन बॉर्डर से पुष्पवर्षा की शुरुआत की।

नारसन बॉर्डर से कांवड़ पटरी पर कांवड़ियों के ऊपर पुष्प वर्षा करते हुए हेलीकॉप्टर बैरागी कैंप, शंकराचार्य चौक से अपर रोड होकर हरकी पैड़ी के ऊपर पहुंचा। आसमान से पुष्प वर्षा का दृश्य बेहद ही रोमांचकारी रहा। कांवड़िए पुष्प वर्षा होते देख भाव विभोर हो गए।जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर कांवड़ियों का देवभूमि में भव्य स्वागत हो रहा है। कांवड़ियों के सत्कार और सेवा में किसी तरह की कमी नहीं हो रही है। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी पीएल शाह, एसडीएम पूरन सिंह राणा, रेडक्रॉस सचिव डॉ. नरेश चौधरी आदि मौजूद रहे।

हेलीकॉप्टर भल्ला कॉलेज के मैदान में दोपहर एक बजे पहुंच गया था। हेलीकॉप्टर के उड़ान भरने से पहले मौसम खराब हो गया। अपराह्न करीब चार बजे मौसम साफ होने पर हेलीकॉप्टर ने उड़ान भरी। हेलीकॉप्टर सीधे नारसन बॉर्डर पहुंचा और वहां से कांवड़ियों पर पुष्पवर्षा करते हुए हरकी पैड़ी पहुंचा।
पैदल कांवड़ियों के बाद अब डाक कांवड़ियों के आने का सिलसिला शुरू हो गया है। बैरागी कैंप पार्किंग में डाक कांवड़ियों के कैंटर, मैक्स पिकअप व अन्य वाहनों का जमावड़ा लगने लगा है। बैरागी कैंप में खान-पान से लेकर कांवड़ियों की वेशभूषा व अन्य सामान की दुकानें सज गई हैं। वहीं पुलिस निर्धारित रूट से ही डाक कांवड़ियों के वाहनों कों बैरागी कैंप पार्किंग में भेज रही है।
महाशिवरात्रि का पर्व जैसे-जैसे करीब आ रहा है शिवभक्तों भी संख्या हरिद्वार में बढ़ती जा रही है। हरिद्वार से बड़ी संख्या में शिवभक्तों का सैलाब कांवड़ लेकर मंगलौर बाईपास से अपने गंतव्य की ओर रवाना हो रहा है। हरिद्वार, नीलकंठ और गोमुख से गंगाजल लेकर आने वाले शिवभक्तों की संख्या रोजाना बढ़ती जा रही है। इस बार मंगलौर बाईपास चलने से शिवभक्त कांवड़ पटरी पर कम नजर आ रहे हैं। अधिकतर शिवभक्त बाईपास से ही गुजर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.