नये साल पर देह व्यापार के लिए चार युवतियों को मसूरी ले जा रहे दो लोगों को पुलिस ने किया गिरफतार

नए साल पर ग्राहकों की मांग पर चार युवतियों को पहाड़ों की रानी मसूरी ले जा रहे दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस कार्रवाई को एंट्री ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट टीम ने अंजाम दिया है। पुलिस ने राजपुर धोरण पुल के नजदीक से दोनों को गिरफ्तार किया है। गिरोह के सदस्य अलग-अलग राज्यों की युवतियों से देह व्यापार का धंधा करा रहे थे। यूनिट के इंचार्ज एसआइ हेमंत खंडूड़ी ने बताया कि शुक्रवार शाम को एक सूचना के आधार पर मसूरी बाइपास रोड पर धोरण पुल के नजदीक चेकिंग के दौरान भोली भाली लड़कियों से देह व्यापार करवा रहे गिरोह के मुखिया राहुल पाटिल और राहुल कुमार को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के पास से आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई है। आरोपियों के कब्जे से चार युवतियों को भी छुड़ाया गया है। पूछताछ में पीड़ितों ने बताया कि आरोपि उन्हें नौकरी का झांसा देकर देह व्यापार के धंधे में लगा देते हैं। युवतियां दिल्ली के साथ ही केई अन्य जगहों से वाहनों मे लाई जाती हैं। और डिमांड पर उन्हें ले जाया जाता है।

बताया कि शुक्रवार रात को युवतियों को मसूरी ले जाया जा रहा था। आरोपि राहुल पाटिल ने बताया कि वह पिछले कई सालों से देह व्यापार के कार्य में लिप्त हैं। साल 2018 में उन्हें पुलिस ने देहरादून से गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद वह दिल्ली चला गया और दिल्ली में अन्य व्यक्तियों के साथ मिलकर फिर से देह व्यापार का धंधा चलाने लगा। जानकारी मिली है कि व्हाट्सएप के जरिए दिल्ली के साथ ही देश के अन्य राज्यों में अलग अलग एस्कार्ट सर्विस के नाम से गिरोह चलाते हैं और व्हाट्सएप पर ग्राहकों से सौदा कर दिल्ली से वाहनों के माध्यम से अलग-अलग जगह महिलाओं को ले जाते हैं। नए साल में कुछ ग्राहकों की डिमांड पर वह मसूरी में चार युवतियों को दिल्ली से लाकर ले जा रहा था। आरोपितों की पहचान राहुल पाटिल निवासी महाऋषि वाल्मीकि बस्ती गोविंदगढ़ शहर कोतवाली व राहुल कुमार निवासी ग्राम ब्रह्मपुरी हरिद्वार के रूप में हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.