नई दिल्ली में एआइसीसी मुख्यालय में उत्तराखंड प्रदेश चुनाव प्रचार के ‘थीम सांग’ की हुई लान्चिंग हुई

नई दिल्ली में एआइसीसी मुख्यालय में उत्तराखंड प्रदेश चुनाव प्रचार के ‘थीम सांग’ की हुई लान्चिंग हुई। इस दौरान भाजपा के दो बार विधायक रहे मालचंद और उत्तरकाशी जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिजल्वाण ने कांग्रेस पार्टी का दामन थामा। इस मौके पर प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, इंटरनेट मीडिया राष्ट्रीय अध्यक्ष रोहन गुप्ता, पीसीसी अध्यक्ष गणेश गोदियाल, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, सहप्रभारी दीपिका पांडे सिंह, राजेश धर्माणी व कुलदीप इंदौरा, राष्ट्रीय सचिव काज़ी निज़ामुद्दीन, कार्यकारी अध्यक्ष रणजीत रावत, पूर्व मंत्री यशपाल आर्य, पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी, राष्ट्रीय मीडिया पैनलिस्ट ज़रिता लेतफलांग व अन्य मौजूद रहे।

भाजपा के नेता रहे मालचंद दो बार विधायक रहे हैं, जबकि दो बार चुनाव हारे हैं। पहली बार वे भाजपा से 2003 और फिर 2012 में पुरोला से विधायक रहे। 2008 में निर्दलीय और 2017 में भाजपा से चुनाव लड़े, लेकिन चुनाव हार गए। चार मई 1967 को देवरा गांव पुरोला में जन्मे मालचंद हाई स्कूल उत्तीर्ण हैं और परिवार में पत्नी, दो पुत्र एक पुत्री है। पत्नी गृहणी हैं।34 वर्षीय दीपक बिजल्वाण मूलरूप से पुरोला विधानसभा के पोरा गांव के रहने वाले हैं और वर्तमान में उत्तरकाशी के जिला पंचायत अध्यक्ष हैं। दीपक बिजल्वाण के पिता द्वारिका प्रसाद बिजल्वाण उत्तराखंड आंदोलनकारी और प्रधान संगठन के जिलाध्यक्ष भी रहे हैं।

दीपक बिजल्वाण ने छात्र राजनीति से अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की है। वर्ष 2006-07 में वे पुरोला महाविद्यालय से छात्र संघ अध्यक्ष बने। वे एनएसयूआइ के राष्ट्रीय महासचिव भी रहे हैं। दीपक बिजल्वाण ने पुरोला में कांग्रेस के युवा नेता राहुल गांधी को भी आमंत्रित किया था। वे साल 2008 में पुरोला से क्षेत्रपंचायत सदस्य चुने गए, जिसके बाद 2014 में पुरोला के रामा वार्ड से जिला पंचायत सदस्य चुने गए।इसके बाद 2019 में पुरोला के हुडोली वार्ड से जिला पंचायत सदस्य चुने गए और जिला पंचायत अध्यक्ष के निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में भाजपा के प्रत्याशी चंदन पंवार को पटकनी दी। दीपक बिजल्वाण का युवा वर्ग में खासा प्रभाव है। दीपक बिजल्वाण यमुनोत्री विधानसभा में लगातार सक्रिय हैं, जिससे भाजपा और कांग्रेस के दावेदारों की भी चुनौतियां बढ़ गई हैं। आपको बता दें कि जिला पंचायत उत्तरकाशी में दीपक बिजल्वाण के तीन वर्ष के कार्यकाल में भ्रष्टाचार के आरोप भी लगे हैं। दीपक बिजल्वाण ग्रेजुएट हैं, उनकी पत्नी एलटी में शिक्षिका है और उनका एक बेटा और एक बेटी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.